28.12.17

कर्मफल - रोचक कहानी (Motivational Story in Hindi)

Related Posts Plugin for WordPress, Blogger...
Motivational Stories in Hindi के तहत आपके लिए यह छोटी - सी कहानी प्रस्तुत है ।
Rochak Kahani

चैतन्य कुमार नाम का राजा पुरुषार्थी और चक्रवर्ती सम्राट था । लेकिन उनके राज ज्योतिषी ने उनका मस्तिष्क ज्योतिष की ओर मोड़ रखा था । राजा बिना मुहूर्त देखे कोई भी काम नहीँ करते थे । एक दिन चैतन्य अपने देश के दौरे पर निकले । रास्ते मे उन्हें एक किसान मिला, जो हल - बैल लेकर खेत जोतने जा रहा था ।
राज ज्योतिषी ने उसे रोककर कहा - ''तुम जिस दिशा की तरफ जा रहे हो, उससे तुम्हें हानि होगी ।''
राज ज्योतिषी ने ऐसा इसलिए कहा कि वह राजा के सामने अपना ज्ञान बघारना चाह रहा था ।
किसान ने कहा - "मैं बिल्कुल इसी तरह खेत पर जाता हूं । यदि ऐसा होता तो मुझे रोज ही हानि होती ।"
राज ज्योतिषी ने कहा - "तो तुम अपना हाथ दिखाओ ।"
किसान नाराज होकर बोला - "मैं अपना हाथ किसी के सामने क्यों फैलाऊँ ? मेहनत करता हूं । मुहूर्त और हस्तरेखा से मुझे क्या लेना -  देना । मुझे तो कर्म और कर्मफल पर जरा सी भी शंका नहीं है ।"
यह सुनकर राज ज्योतिषी को कोई जवाब न सूझा । लेकिन राजा चैतन्य कुमार समझ गए कि कर्मफल से श्रेष्ठ कुछ भी नहीं है ।

ऐसी ही अन्य रोचक कहानियां यहाँ से पढ़े

शिक्षा - इस कहानी से हमें यही शिक्षा मिलती है कि हमें खुद पर पूर्ण विश्वास रखते हुए अच्छे कर्म करते रहना चाहिए । फल की चिंता ना करें । अगर आप के कर्म अच्छे है तो आपको कर्मफल भी श्रेष्ठ ही मिलेगा ।

यह प्रेरक कहानी (Motivational Story) आपको कैसी लगी । कृपया कमेंट के माध्यम से अवश्य बताएं । अगर आपके पास भी ऐसी ही कोई मोटिवेशनल कहानी है तो हमें ई-मेल के माध्यम से या फेसबुक पेज पर सन्देश के रूप में भेजे । पंसद आने पर उसे इस वेबसाइट पर प्रकाशित कर दिया जाएगा ।
कुछ आश्चर्यजनक गजब रोचक तथ्य यहाँ से पढ़े

Like our Facebook Page & Get Updates.

यदि आपको रोचक जानकारियों युक्त कोई पोस्ट पंसद आई हो तो कृप्या कंमेट अवश्य करें ।
आपके सुझाव हमारी मेहनत को सफल बनाते है ।
EmoticonEmoticon