1.3.18

विश्व के विभिन्न देशों में होली व होली जैसे त्योंहार कब, क्यों व कैसे मनाएं जाते हैं

होली भारत के प्रमुख त्योंहारों में से एक महत्वपूर्ण त्योंहार है सम्पूर्ण भारत में फाल्गुन पुर्णिमा को हर्षोल्लास से मनाया जाता है । मुख्यतः 2 दिन के लिए होली का त्योंहार मनाया जाता है । पहले दिन होलिका दहन किया जाता है और दूसरे दिन धुलण्डी के रूप में मनाया जाता है । इस दिन लोग एक दूसरे के रंग गुलाल लगाते हैं, नाचते - गातेँ हैं और खुशियां मनाते हैं ।

यह तो थी भारत में होली बनाए जाने की बात पर हम यहां विश्व के विभिन्न देशों में होली और होली जैसे त्योंहार मनाए जाने की बात करने वाले हैं ।

विश्व के अन्य देशों में होली का त्योंहार रोचक जानकारी

Holi Festival in Different Countries of World

नेपाल → नेपाल में होली को फाल्गुन पूर्णिमा (नेपालभाषा में फागु पुन्हि) भी कहते है। नेपाल के अलग अलग स्थानों पर होली के रीति रिवाज़ों में थोड़ी बहुत विभिन्नता है। काठमांडू में होली मैं रंग के साथ साथ मैं पानी का भी बहुत प्रयोग होता है। नेपाल के हिमाल और पहाड़ी इलाके में मुख्य होली भारत से एक दिन पहले मनाई जाती है। परंतु तराई में होली भारत की होली के दिन ही मनाई जाती है। तराई की होली का रूप बिहार की फगुआ से मिलता जुलता है। होली एक हिन्दू त्यौहार है परन्तु नेपाल में हिन्दू और बौद्ध धर्मावलम्बी (प्रायः नेवार जाति) दोनों ही इस त्यौहार को हर्षोल्हास से मनाते है।


मॉरिशस → अफ्रीकी महाद्वीप में बसे इस देश में भारतीय मूल के लोगों की संख्या सर्वाधिक है। देश की कुल आबादी में 60 फीसदी से ज्यादा लोग भारतीय मूल के हैं। ऐसे में इस देश में भी होली का पर्व भी हर्षोल्लास के साथ मनाया जाता है। यहां पर पूरे पारंपरिक तरीके से होली मनाई जाती है। 15 दिन पूर्व ही इस पर्व की तैयारियां प्रारंभ हो जाती है। रंग और अबीर से पूरा वातावरण ही रंगमय हो जाता है। यहां पर लोग होली से एक दिन पूर्व होलिका दहन करते हैं और बुराई पर अच्छाई की जीत के प्रतीक के रूप में होली का त्योहार मनाते हैं।


अमेरिका → अमेरिका में होली जैसे ही एक मस्ती से भरे त्योहार का नाम है होबो। यह त्योहार हर साल 31 अक्टूबर को मनाया जाता है। ऊंटपटांग पोशाकें पहनकर लोग बेहूदगी दर्शाते हैं। जो जितनी अधिक बेहूदगी दर्शाता है वह उतने ही अधिक पुरस्कार पाने का अधिकारी बनता है।


चेक गणराज्य → यूरोप में स्थित चेकोस्लोवाकिया नामक देश अब चेक गणराज्य व स्लोवाकिया गणराज्य नाम से दो भागों में बंट चुका है। चेक गणराज्य में होली से मिलते-जुलते पर्व को वेलियाकोनसि कहा जाता है। यहां भी लोग भारत की तरह रंग और गुलाल से होली मनाते है।


रूस → रूस में यह पर्व होली के समान ही मनाया जाता है। 31 मार्च को वहां पर मूर्ख दिवस का आयोजन किया जाता है। भांति-भांति के हास्य एवं महामूर्ख सम्मेलन का आयोजन किया जाता है।


जर्मनी → जर्मनी के ओल्डबर्ग में इस दिन लड़के-लड़कियां घास-फूस का एक पुतला बनाते है फिर उसे जला देते है। अग्नि समाप्त होने के पश्चात लड़के-लड़किया एक-दूसरे को मुंह चिढ़ाते है। अपने से बड़ों के कपड़ों पर धब्बे लगाते है।


इटली → रोम में रेडिका नाम से यह त्योहार मई महीने में मनाया जाता है। इस दिन लोग ऊंचे स्थान पर लकडिय़ां एकत्र करते है, उन्हे जलाते है, नाचते-गाते है, खुशियां मनाते है। इस अवसर पर आतिशबाजी का भी आयोजन किया जाता है। इटलीवासियों के अनुसार यह समस्त कार्य अन्न की देवी फ्लोरा को प्रसन्न करने के लिए किया जाता है।


ग्रीस [यूनान] → सुकरात की जन्मभूमि यूनान में यह उत्सव पोल नाम से मनाया जाता है। इस दिन यूनानी देवता टायनोसियस की पूजा की जाती है। लोग आग जलाकर नाचते-गाते है। लोगों की मस्ती देखते ही बनती है।


फ्रांस → इस यूरोपीय देश में स्थानीय पर्व गाचो के नाम से होली मनाई जाती है, जिसमें वहां के लोग घास के पुतले जलाकर एक-दूसरे पर रंग डालते हुए मौज-मस्ती करते है।


इंग्लैंड → इंग्लैंड में पांच नवंबर को गाइ फॉक्स डे के रूप में होली मनाई जाती है जिसमें वहां के लोग फॉक्स का पुतला जलाते हैं।


बेल्जियम → इस यूरोपीय देश में भी कुछ स्थानों पर होली जैसा उत्सव मनाने का रिवाज है। हंसी-खुशी से भरे हुए इस पर्व पर लोग पुराने जूते जलाते है। सब लोग आपस में मिलकर हंसी-मजाक करते है। जो लोग इस उत्सव में शामिल नहीं होते, उनका मुंह रंगकर उन्हें गधा बनाया जाता है और उनका जुलूस निकाला जाता है।


अफ्रीका → यूरोप और अमेरिका के अलावा अफ्रीका में भी होली से मिलते-जुलते त्योहार को मनाया जाता है। इस त्योहार को स्थानीय भाषा में जैसे पर्व को ओगेवा बोंगा कहा जाता है। इस दिन बोंगा नामक जंगली देवता का पुतला जलाया जाता है। इस देवता को प्रिन बोंगा कहते है।


पोलैंड → पोलैंड में होली को आरशिना के नाम से जानते हैं। इस अवसर पर फूलों से बनाए गए रंग एक-दूसरे पर डाले जाते है। यह त्योहार समूह रूप में मनाया जाता है।


स्वीडन → स्वीडन में होली से मिलते-जुलते पर्व को सेंट जॉन की पवित्र तिथि के रूप में मनाने की प्रथा है। हालांकि रंगों से खेलने के अलावा इस दिन बच्चे पटाखे भी छोड़ते है। शाम को पर्वतों पर आग लगाई जाती है।


चीन → चीनी भाषा में इसे च्वैजे की संज्ञा दी गई है। इस दिन लकड़ियों का ढेर लगाकर आग लगाते है। एक-दूसरे पर रंग डालते है। उसके पश्चात रंग-बिरंगे वस्त्र पहनकर एक-दूसरे को शुभकामनाएं देते है।


श्रीलंका → पड़ोसी देश श्रीलंका में होली का पर्व भारत में मनाए जाने वाले त्योहार की तरह होता है। होली की भांति ही रंग, गुलाल और पिचकारियां सजती है। सब लोग गिले-शिकवे भुलाकर एक-दूसरे से गले मिलते है।


म्यांमार → एक और पड़ोसी देश म्यांमार [बर्मा] में होली के त्योहार को 'तिजान' कहा जाता है। पानी के बड़े-बड़े ड्रम भरकर रंग सुगंध भरकर एक-दूसरे पर डाला जाता है।

अन्य देशों में होली या होली जैसे त्योंहार मनाए जाने की यह रोचक जानकारी आपको कैसी लगी ।
हमारा Facebook Page लाईक करें, Twitter और Instagram पर हमें Follow करें ।

यदि आपको रोचक जानकारियों युक्त कोई पोस्ट पंसद आई हो तो कृप्या कंमेट अवश्य करें ।
आपके सुझाव हमारी मेहनत को सफल बनाते है ।
EmoticonEmoticon